Thursday, 14 November 2013

हाय मुझे बचाओ ....

लो जी आज कुछ हास्य रस में डूबा जाये---







अल्पज्ञानी पति ने 
अपने व् पत्नी के टेस्ट करवाए 
रिपोर्ट लेकर 
फेमिली डॉक्टर के पास 
दौड़े आये 

डॉक्टर ने कहा दिल थाम लो 
खुद को जरा संभाल लो 
बी पी ने किया है 
किडनी पर वार 
किडनी फेल होने के 
तुम्हारी पत्नी के पूरे हैं आसार 

बीबी तुम्हारी है मेहमान 
बस 1-2 साल 
किडनी तुम्हारी है बेहतर 
कर दो बीबी को दान 
वर्ना रह जाओगे अकेले 
बैठे हो बुढ़ापे की  कगार 

पति ने डॉक्टर को घूरा 
मुंह थोडा बिसूरा 
ऊपर से भुन-भुनाया 
मन ही मन गुदगुदाया 
फिर थोडा बुदबुदाया 
डॉक्टर हो गया तू पगला  
दिल की मेरी न समझा 
छूट रहा जिससे 
मुश्किल से मेरा पीछा 
उसी को मैं बचा लूं 
देके अपने शरीर का टुकड़ा ?

बुडबक हुआ रे ये तो 
पति सोच के झल्लाया  
साध मेरे दिल की 
जो आज पूरी होने को आई 
क्या रह जाएगी अधूरी 
पत्नी गर बच के आई 
हाय अब मेरा  क्या होगा 
क्या दूजा ब्याह न होगा ?

पर तनिक देर में वो संभला 
उदास सा मुहं  बनाया  
सोचा झट से कोई बहाना 
रुआंसा सा हो के बोला 
डॉक्टर बेशक इसे बचाओ 
पर मेरी रिपोर्ट पे भी तो 
ध्यान लगाओ 
डायबिटिक हूँ मैं पहले ही 
कैसे किडनी लगे बताओ ?

डॉक्टर ने फिर से रिपोट देखि  
बोला हो गया बड़ा घोटाला 
गलती से तुम्हारी रिपोट 
तुम्हारी पत्नी की समझ गया   
फ़ैल होती तुम्हारी किडनी की डीटेल 
तुम्हारी पत्नी की पढ़ गया !

पति का माथा ठनका 
बोला जल्दी करो उपाय 
पत्नी की ही किडनी 
मेरी बॉडी में फिट कराओ 
हाय मुझे बचाओ 

कैसे भी मुझे बचाओ ।



17 comments:

sushmaa kumarri said...

behtreen post....

ANULATA RAJ NAIR said...

बड़ा ही बदमाश पति है :-)
अच्छा मज़ा आया...

अनु

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
--
आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल शुक्रवार (15-11-2013) को "आज के बच्चे सयाने हो गये हैं" (चर्चा मंचःअंक-1430) पर भी होगी!
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

सूबेदार said...

बेहतरीन रचना-------
बहुत-बहुत धनयबद

कालीपद "प्रसाद" said...

मनोरंजक पोस्ट
नई पोस्ट लोकतंत्र -स्तम्भ

Vaanbhatt said...

बिना प्रेम के ब्याह का यही हाल होना है...मज़ेदार रचना...

Onkar said...

वाह. बहुत सुन्दर

Anju (Anu) Chaudhary said...

हा हा हा हा हा ...बहुत बढिया

Asha Joglekar said...

वाह मजा आया पढ कर। यही है दुनिया।

Ranjana verma said...

बहुत खूब.... बहुत अच्छा !!

Ranjana verma said...

बहुत खूब.... बहुत अच्छा !!

वाणी गीत said...

हास्य में विद्रूप सत्य छिपा है !

मेरा मन पंछी सा said...

बहुत मजेदार है... पति कि आँख खुल गयी..
पर इस मजेदार रचना में सत्यता भी है...
बहुत बेहतरीन...
:-)

इमरान अंसारी said...

:-))

Unknown said...

मनोरंजक पोस्ट

Anonymous said...

ha ha ha... bahut khoob...

Please visit my site and share your views... Thanks

Dr.R.Ramkumar said...


Pati kya sachmuch aise hote hain?
kHAIR..



आपको नववर्ष 2014 की मंगल कामनाएं...