Tuesday, 20 September 2016

ओ रे पाकिस्तान

 pics of attacks on army के लिए चित्र परिणाम


सोते शेरों को मारने वाले
पीठ में छुरा घोंपने वाले
अब तू भी चैन से न सो पायेगा
तेरे घर में ही घुस के तुझे मारा जायेगा !!

तेरे लिए तो हमारी सेना बहुत
तोपों की गर्जन तेरे बस की नहीं
कायरता तेरी  इसी में दिखे
कि शहीदों को अपनाने का
तुझमे दम  भी नहीं !!

सब्र दिखाया अब तक हमने बहुत

पडोसी धर्म अब तक निभाया बहुत
17 के बदले 70 न मारें तो देखना
तुझे घुटनों पे ना लाये तो देखना !!
तू  जिस जुबां में समझता है
उसी जुबां में अब बात होगी
ना दोस्ती ना कोई फ़रियाद होगी
नेस्तनाबूत  अब तेरा वज़ूद होगा
और तेरी रूह कब्र की मोहताज़ होगी.

एक चीनी के पीछे
जो दो-दो बेटे गँवाए
ऐसी दोस्ती का भिखारी है तू
आतंकी के  मदारी का खिलौना बना 
ऐसा गर्त में गिरता अनाड़ी  है तू  !!
मत भूल  रे ए बुड़बक वतन 
युद्ध हुआ तो पिछड़ेंगे दोनों वतन
तब बाकी दुनियां हमारी बाप होगी
यही सोच सदा सभ्य रहे हम
प्रगति पथ पर चले, शांत रहे हम
मगर ओ अक्ल के सौदागर
अब तेरी ना कोई चाल कामयाब होगी !!

 

5 comments:

yashoda Agrawal said...

कुछ उथल-पुथल तो हो रही है
कोई नई बात नहीं..
उथल-पुथल का होना..
मैं समझता हूँ कि ये
उथल-पुथल का सिलसिला..
सन् उन्नीस सौ सैंतालीस के बाद
प्रारम्भ हुआ..और पड़ोसी के
जीवित रहते तक अविराम होते रहेगा
-दिग्विजय अग्रवाल

yashoda Agrawal said...

जागो भारत जागो

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

आक्रोश स्वाभाविक है .

Indu Puri said...

विस्फोट कर दिया जी ....वाह!

प्रतिभा सक्सेना said...

लातों के भूत बातों से मानते हैं भला !